कला में पारंगत होने के लिए आत्म विश्वास जरूरी – सुरेश बबलानी
अजमेर 24 मई, सेवा समाचार। ।संस्कार भारती अजयमेरु का बालायाम रंगोली मांडणा ग्रीष्मकालीन सप्तदिवसीय शिविर शहीद अविनाश महेश्वरी स्कूल,अजमेर पर श्रीमती मधुलिका नाग की अध्यक्षता में श्री सुरेश बबलानी क्षेत्र प्रमुख के उद्बबोधन व प्रशिक्षणार्थी की कला प्रस्तुतियों के साथ धूमधाम से समापन हुआ। प्रचार प्रसार प्रमुख महेन्द्र जैन मित्तल ने बताया कि समापन समारोह में विद्यालय के छात्राओं ने ‘बनी थारो चांद शरीफ मुखड़ो’ पर बहुत ही सुंदर राजस्थानी नृत्य किया ,जोड़ों कराटे, व दंड संचालन, की प्रस्तुति काजल, प्रिया जीनगर, दीक्षा,भारती, मुस्कान, दिव्यांश, ख्वाहिश, आदि बच्चों ने शानदार प्रस्तुति दी। सिद्धि बंसल व लक्ष्या बंसल,आर्ट और क्राफ्ट में बनाए फोटोफ्रम, पूजा थाली, वॉल हेंगिग, आदि का भी प्रदर्शन किया गया। मुख्य वक्ता क्षेत्र प्रमुख सुरेश बबलानी ने अपने उद्बबोधन में बताया की राजस्थानी संस्कृति में कला का बहुत महत्व है हम मांडना देखकर ही बता सकते है की आज कौन सा पर्व त्यौहार है साथ ही किसी भी कला में निपुणता, योग्यता हासिल करनी है तो हमारे मन के अंदर आत्म विश्वास का होना बहुत जरूरी है। श्री कृष्ण गोपाल पाराशर ने कहा जिस प्रकार जीवन में सात वचन,सात दिवस, सरगम में सात स्वर का महत्व है ठीक उसी प्रकार रंगोली में सात रंगों का बड़ा महत्व है यह जीवन को इंद्र धनुषी बना देते हैं। योगबाला वैष्णव ने बाल आयाम अलका शर्मा ,अंतिमका राजपुरोहित रंगोली मांडणा का प्रशिक्षण बच्चों को दिया सुनीता शर्मा ,पदमा डेयरी,डॉ पुष्पा गुप्ता,डॉक्टर आयुषी शर्मा,नंदकिशोर गुप्ता ने आर्थिक सहयोग दिया सभी बच्चों को अल्पाहार उपहार संस्कार भारती व प्रमाण पत्र स्कूल प्रबंधन द्वारा वितरित किए गए हैं। साथ ही चल रहे 15 दिवसीय लोकनृत्य प्रशिक्षण शिविर मे मुख्य अतिथि एडवोकेट अनूप शर्मा ने भगवान नटराज के दीप प्रज्जवलित करते हुए अपने उदबोधन में कहा कि संस्कृति को बनाये रखने में लोक नृत्यों का अमूल्य योगदान रहता है। एचकेएच स्कूल अजमेर प्रांगण में संस्कार भारती अजयमेरु की ओर से 15 दिवसीय राजस्थानी लोक नृत्य प्रशिक्षण शिविर में श्री अशोक शर्मा प्रसिद्ध नृत्य कलाकार द्वारा नियमित रूप से बच्चों और बड़ों को प्रशिक्षित किया जा रहा है। कार्यक्रम संचालन नीलम दीदी ने किया अंत में भगवान प्रसाद शर्मा प्रधानाचार्य सभी का आभार व्यक्त किया इस दौरान नंदलाल शर्मा ,गोपाल शर्मा, बनवारी लाल शर्मा ,अशोक पोखरिया, राजेश भटनागर, महेन्द्र जैन मित्तल, रेना शर्मा, पुष्पा शर्मा ,प्रभा शर्मा ,प्रभा गुप्ता ,विजय शर्मा, पुष्पा क्षेत्रपाल आदि उपस्थित रहे।