कल 1600 पेड़ लगाये जाएंगे

 

अजमेर।दैनिक भास्कर के एक पेड़ एक जिंदगी अभियान के तहत वैशाली नगर स्थित आर्यन कॉलेज में आमंत्रित डा. विकास सक्सेना ने यह बताया कि किस तरह मानव के प्रकृति से जुदा हो जाने के कारण .प्रकृति को  नुकसान हुआ है तथा उस नुकसान की हम कैसे भरपाई कर सकते हैं। मानव प्रकृति का एक अभिन्न अंग है ।

अगर मानव स्वयं प्रकृति से जुड़ा रहेगा तो फिर एक परिवार के रूप में मानव परमात्मा के हर  कार्य में, अपना सहयोग प्रदान करेगा, जैसे एक सुपुत्र अपने परिवार के हर काम में अपने पिता का साथ कंधे से कंधा लगाकर साथ देता है।  हरियाली फैलाकर व प्रदूषण रोक के पेड़ लगाकर और हर जने के हृदय को छू के हम जिंदगी को संवार सकते हैं। हम दिलों को छू सकते हैं। एक पेड़, एक फूल या फल का पौधा  न केेेवल हरित क्रांति लाएगा अपितु हर हृदय में  एक क्रांति का शुभारंभ करके ‘एक पेड़ एक ज़िंदगी’ के नारे को चरितार्थ करेग। ग्रीन आर्मी अध्यक्ष Er. सिद्ध भटनागर ने पौधों की मुख्य जरूरतों के बारे में सबको अवगत कराया। पानी, सुपोषण, हवा और धूप ये चार  चीजें पौधों की सहज स्वाभाविक जरूरतें हैं और उसके बदले में वह हमारे पर अपना आशीर्वाद न्योछावर कर देते हैं । पेेेड़ जीवन पर्यंत हमें ऑक्सीजन, फल, हरियाली, प्रदूषण मुक्त सांस और ठंडक, बादल व वृष्टि इत्यादि प्रदान करते हैं। हमें किस तरह से आपसी सहयोग से कार्य करना चाहिए जिससे लंबे समय तक हमें इन जीवंत हरित साधुओं, यथा पेड़ों, का आशीर्वाद प्राप्त होता रहे। ग्रीन आर्मी के सचिव एडवोकेट कुलदीप सिंह गहलोत ने ग्रीन आर्मी के स्थापना के बारे में बताया ग्रीन आर्मी 3 वर्ष पहले कार्य करना प्रारंभ कर चुकी है । व अभी तक 18000 पेड़ इसके द्वारा लगवाए जा चुके हैं उन्होंने यह भी बताया इस आगे आने वाले 1 अगस्त, हरियाली अमावस, के दिन 1600 पौधे एक साथ लगाने का यह महायज्ञ अजमेर में पहली बार हो रहा है। इसमें कई संस्थाएं सहयोग कर रही हैं । इनमें आर्यन कॉलेज के विद्यार्थी गण मुख्य रूप से अपने कर कमलों द्वारा ही पौधे लगाएंगे और संकल्प लेंगे कि वह इनकी सेवा अपने बच्चों की तरह करेंगे।  कॉलेज से घर जाते वक्त अपनी अपनी पानी की बोतल अपने अपने चिन्हित पेड़ में खाली करते हुए प्रत्येक दिन पानी भी पिलाएंगे। उसके बाद श्री गहलोत ने आगे आने वाली हरियाली अमावस के दिन व्यवस्थित रूप से पौधे किस तरह से लगाए जाएं उसके बारे में सब को ट्रेनिंग प्रदान की और कार्यक्रम किस तरह से रहेगा उसकी रूपरेखा से अवगत कराया। इस कार्यक्रम में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण अजमेर, रोटरी क्लब, सिंबोसिस कंप्यूटर विजन, नारायणी देवी गोविंंदराम चैरिटेब ट्रस्ट,  बंसल  भगवानदास बसंती देवी सोसायटी सक्रिय रूप से सम्मिलित रहेेंगे।