खसरा रुबेला टीकाकरण पर कार्यशाला आयोजित

खसरा वायरस जनित जानलेवा रोग है

अजमेर। लायंस क्लब अजमेर पृथ्वीराज द्वारा राजस्थान सरकार द्वारा चलाये जा रहे खसरा रुबेला टीकाकरण अभियान के तहत मदार स्थित राजकीय चिकित्सालय में कार्यशाला का आयोजन किया गया । चिकित्सा प्रभारी डॉ मोहम्मद अज़ीज़ ने कहा कि इसमें बुखार, खांसी-जुकाम, आंखें लाल होना आदि लक्षण दिखते हैं. खसरे के चकत्ते बुखार आने के दो दिन बाद दिखते हैं. इसमें डायरिया,निमोनिया,मस्तिष्क की सूजन जैसी जटिलताएं भी हो सकती हैं. कुपोषित बच्चों को भी यह टीका लगाया जाना चाहिए, क्योंकि इस प्रकार के बच्चों में संक्रमण की संभावना ज्यादा होती है. डॉ रुचिका विजयवर्गीय ने कहा कि किसी भी प्रकार की गंभीर बीमारी, तेज बुखार और गर्भावस्था में यह टीका नहीं लगाया जाए, बच्चों में खसरे के कारण विकलांगता और अनहोनी का खतरा रहता है. यह टीका पूरी तरह सुरक्षित है. लक्षित आयु वर्ग के सभी बच्चों को 0.5 मिली की खुराक दी जाती है । प्रत्येक वायल में 10 खुराक होंती है । वैक्सीन देने के लिए केवल एडी सिरिंज का ही इस्तेमाल किया जाना चाहिए। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि लायन अशोक गोयल पंसारी ने इस टीकाकरण अभियान को पुनीत कार्यक्रम बताते हुए पूरा सहयोग करने की बात कही। इस अवसर पर क्षेत्रीय अध्यक्ष लायन कमल शर्मा, लायन राजेन्द्र गांधी, लायन गजेंद्र पंचोली, लायन आभा गांधी, शारदा विजयवर्गीय, पुष्पा कुमारी, प्रिया साइमन, दीपेश, सुमन शेखावत, मीना विजय, चिकित्सा स्टाफ सहित क्षेत्रवासी भी काफी संख्या में मौजूद थे ।